Motivational & Inspirational Shayari

Share With Friends

आज बादलो ने फिर सजिश कि है,
जहा मेरा घर था वहि बरिश कि ।

अगर फलक को जिद है,है,बिजलिया गिराने कि ,

तो हमे भि जिद है वहि पर आशिया बनाने कि…continue…